Home » 102 वर्षीय वृद्ध जन को कैलाश चंद एड्वोकेट के सहयोग से मिला आश्रय,
Haryana Hindi News

102 वर्षीय वृद्ध जन को कैलाश चंद एड्वोकेट के सहयोग से मिला आश्रय,

कैलाश चंद्र एडवोकेट को  राजबाला चौहान के माध्यम से सूचना मिली कि गांव डवाना जिला रेवाड़ी के गांव के मंदिर में एक अनजान वृद्धजन जिसकी उम्र लगभग 102 वर्ष बताई गई है, जो पिछले 1 माह से काफी परेशान है मंदिर में कोई सेवा टहल करने वाला नहीं है, इसलिय राजबाला चौहान ने इसे अपने निवास स्थान पर शरण दी, और कैलाश चंद एडवोकेट को सूचित कर के आग्रह किया कि इस अनजान वर्द्धजन  को किसी वृद्ध आश्रम शरण दिलवाए
 आज कैलाश चंद्र एडवोकेट इस वर्द्धजन को लेकर उपायुक्त जिला रेवाड़ी कार्यालय में गए, परंतु उपायुक्त महोदय ना मिलने पर एस0डी0एम0 महोदय से मुलाकात की इसके उपरांत समाज कल्याण अधिकारी रेवाड़ी के समक्ष वर्द्धजन को लेकर मुलाकात की और वर्द्धजन को आश्रय दिलवाने की बात रखी, जिस पर अधिकारी ने बताया कि बिना किसी पहचान के दस्तावेज के हम इन्हें सरकारी वर्द्ध आश्रम में नही ठहरा सकते हैं, जिस पर अधिवक्ता ने कहा कि सहयोग के लिये पहचान दस्तावेज वे खुद का दे सकते हैं परन्तु इस बात पर समाजकल्याण अधिकारी सहमत नही हुए, उन्होंने बताया कि, सिर्फ हरियाणा प्रदेश के नागरिकों को ही हम सरकारी वर्द्धाश्रम में ठहरा सकते हैं, जिसके उपरांत  समाज कल्याण अधिकारी रेवाड़ी द्वारा जनता कल्याण समिति रेवाड़ी को एक पत्र जारी करके वर्द्धजन को ठहराने के निर्देश दिया जिसके उपरांत कैलाश चंद एड्वोकेट जनता कल्याण समिति जिला रेवाड़ी में गए और वर्द्धजन को आश्रय देने की बात रखी तो उन्होंने इसका मेडिकल और कोविड टेस्ट करवाने को कहा, जिसके बाद कोविड टेस्ट करवाकर वर्द्धजन  को समिति के आश्रय स्थान पर ठहराया गया, इस प्रक्रिया में एडवोकेट कैलाश चंद के साथ एडवोकेट सीमा सैनी राजबाला चौहान आनंदपाल अनिल सिंह चौहान नीरज सिंह तँवर, सामिल रहे

About the author

S.K. Vyas

Add Comment

Click here to post a comment

Most Read

All Time Favorite

Categories