Home » सागर
Entertainment

सागर

सागर

सागर से भी गहरा  देखा,
आंखों में तेरे प्यार सनम,
तेरा मेरा यह अटूट बंधन,
साथ  रहेगा  सात जन्म।

खुशियों की लहरों पर फिर,
हम  हाथ  पकड़  मुस्कायेगे,
मधुर  तराने  प्रीत  संजोए,
संग  मिलकर  गुनगुनायेंगे।

दूर क्षितिज पर सूरज अपनी,
आभा  अप्रतिम  दिखाएगा,
सागर की लहरों पर उसका,
प्रतिबिंब नजर फिर आएगा।

जुगनू  से  चमकेंगे  तारे,
सागर  जल पर सब तैरेंगे,
हिचकोले भर रहा चांद भी,
लहरों के  संग संग खेलेंगे।

सागर जैसा  अथाह अपार,
प्यार मुझे  तुम हरदम देना,
संकट  की  लहरें  आने पर,
हाथ न में मेरा कभी छोड़ना।

तेरे प्यार  के सुख  सागर में,
अनगिनत  खजाने भरे हुए हैं,
मेरे मन की खिली है बगिया,
पत्ते  पत्ते  सब  हरे  हुए  हैं।

सागर कमल
जालंधर

All Time Favorite

Categories