Home » श्री पुरुषोत्तम रूपाला, मत्स्य, पशुपालन और डेयरी मंत्री, भारत सरकार एसोचैम मत्स्य एवं जलीय कृषि क्षेत्र के बारे में उद्योग जगत को संबोधित करेंगे
Hindi News News

श्री पुरुषोत्तम रूपाला, मत्स्य, पशुपालन और डेयरी मंत्री, भारत सरकार एसोचैम मत्स्य एवं जलीय कृषि क्षेत्र के बारे में उद्योग जगत को संबोधित करेंगे

तिथि: 27 सितंबर 2021:श्री पुरुषोत्तम रूपाला, मत्स्य, पशुपालन और डेयरी मंत्री भारत सरकार आज मत्स्य एवं जलीय कृषि क्षेत्र के बारे में उद्योग जगत को संबोधित करेंगे और इस सत्र का उद्देश्‍य कोविड महामारी के बाद इस क्षेत्र को पुनर्जीवित करने के लिए सरकार के विशेष दृष्टिकोण से उद्योग जगत को अवगत कराना है। श्री रूपाला पीएमएमएसवाई की विशेषताओं के अलावा केन्‍द्र सरकार द्वारा इस क्षेत्र को बढ़ावा देने और उत्थान करने के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं पर भी प्रकाश डालेंगे।

भारत का शीर्ष वाणिज्य मंडल एसोचैम आज मत्स्य पालन और जलीय कृषि उद्योग के बारे में एक वर्चुअल सम्मेलन आयोजित कर रहा है। इस सम्‍मेलन का विषय “नीली क्रांति और आर्थिक वृद्धि को सक्षम बनाने की दिशा में रणनीतिक रोडमैप” है। इस सम्मेलन के आयोजन का उद्देश्य उन विषयों पर विचार-विमर्श करना है जो इस क्षेत्र की वृद्धि दर में सुधार ला सकते हैं और इस पर विशेष ध्‍यान देने के साथ-साथ उत्‍पादकता में सुधार के लिए मत्स्य पालन और जलीय कृषि के एक नए युग में प्रवेश करने संबंधी आवश्यक कदम उठाना है। इसमें इस क्षेत्र से जुड़ी विभिन्‍न संभावनाओं को देखते हुए प्रौद्योगिकी, विपणन, वित्त, निर्यात और आधारभूत संबंधी सुविधाओं पर ध्यान केन्द्रित करना है।

इस सम्‍मेलन में श्री रूपाला के अलावा विभिन्‍न क्षेत्रों से जुड़े विशिष्‍ट वक्‍ता भी हिस्‍सा लेंगे जो मत्स्य पालन और जलीय कृषि क्षेत्र को पुनर्जीवित करने संबंधित सभी संभावित तरीकों पर चर्चा करेंगे। इस सत्र के वक्ताओं में श्री के.एस. श्रीनिवास, आईएएस, अध्यक्ष, समुद्री उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण, भारत सरकार, श्री सागर मेहरा, संयुक्त सचिव, मत्स्य पालन विभाग, भारत सरकार, डॉ. प्रवत कुमार राउल, प्रबंध निदेशक, कृषि संवर्धन एवं निवेश निगम ओडिशा लिमिटेड, ओडिशा सरकार, अपने विचार व्‍यक्‍त करेंगे।

मत्स्य पालन और जलीय कृषि उद्योग से संबंधित उद्योग निकायों के प्रतिनिधि भी इसमें हिस्‍सा लेंगे। इनमें श्री दीपक सूद, महासचिव, एसोचैम, डॉ. मनोज एम. शर्मा, निदेशक, मयंक एक्वाकल्चर, प्रा. लिमिटेड, श्री अमित सालुंखे, मुख्य गठबंधन अधिकारी, एक्वा कनेक्ट, श्री चिंतन ठाकर, अध्यक्ष, एसोचैम गुजरात परिषद एवं समूह अध्यक्ष और प्रमुख, कॉर्पोरेट मामले और रणनीतिक योजना, वेलस्पन समूह, श्री धवल रावल, अध्यक्ष – कृषि और खाद्य प्रसंस्करण समिति, एसोचैम गुजरात परिषद के साथ डॉ. वेंकटेश अय्यर, एडिटर इन चीफ अपने विचार व्‍यक्‍त करेंगे।

इस सत्र में मत्स्य पालन और जलीय कृषि उद्योग से जुड़े विभिन्‍न उद्योग निकाय/अग्रणी उद्योगपति, निर्यातक, शिक्षाविद, शीर्ष अधिकारी, एफपीओ और अन्य उद्योग पेशेवर हिस्‍सा लेंगे।

 

By: Madhur Vyas

About the author

S.K. Vyas

Add Comment

Click here to post a comment

Most Read

All Time Favorite

Categories

RSS Tech Update

  • An error has occurred, which probably means the feed is down. Try again later.