Home » म्यांमा में 470 से अधिक लोग लिये गए हिरासत में
Hindi News World

म्यांमा में 470 से अधिक लोग लिये गए हिरासत में

म्यांमा में 470 से अधिक लोग लिये गए हिरासत में   फोटो,साभार: वन इंडिया
यांगून  १ मार्च ,२०२१ :  म्यांमा के मीडिया केन्द्रों ने ख़बर दी है कि प्रदर्शनकारियों पर बढ़ती सैन्य कार्रवाई के बीच शनिवार को 470 से अधिक लोगों को गिरफ़्तार किया गया। सोमवार को न्यायालय में आंग सान सू ची की सुनवाई से पहले सेना के विरोध में प्रदर्शन तेज़ होते जा रहे हैं।
जापानी मीडिया ने इसकी जानकारी दी है ।

शनिवार को प्रदर्शनकारी देश के सबसे बड़े शहर यांगून तथा अन्य जगहों पर सड़कों पर उतरे। सेना ने जवाब में कई गिरफ़्तारिया कीं और भीड़ को निशाना बना कर बार-बार गोलियां चलायी ।
स्थानीय मीडिया के हवाले से जापानी रेडियो एनएचके की खबरों के अनुसार सुरक्षा अधिकारियों के हवाले से बताया गया है कि उन्होंने शनिवार को 479 लोगों को गिरफ़्तार किया।

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वे शांति से प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन पुलिस ने उनके बच्चों तक को हिरासत में ले लिया।

स्थानीय मीडिया ने ख़बर दी है कि पुलिस ने मध्यवर्ती शहर मोन्यवा में एक प्रदर्शनकारी को गोली मार गम्भीर रूप से घायल कर दिया है। ख़बरों के अनुसार घायल प्रदर्शनकारी का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

आंग सान सू ची पर ट्राँजिस्टर रेडियो अवैध रूप से आयात कर उन्हें बिना अनुमति के उपयोग करने के आरोप हैं। सोमवार की सुनवाई ऑनलाइन होगी।

आंग सान सू ची की नेशनल लीग फ़ॉर डेमोक्रेसी पार्टी ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि राजधानी नेपिडो में उनकी हिरासत अवधि बढ़ायी जा सकती है।

शनिवार को सरकारी टेलीविज़न ने यह ख़बर भी दी कि संयुक्त राष्ट्र में म्यांमार के राजदूत चो मो तुन को देश के साथ विश्वासघात करने के आरोप में पद से हटा दिया गया है।

चो मो तुन ने शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में म्यांमार की मानवाधिकार परिस्थिति को लेकर सेना की आलोचना की थी।

तख़्तापलट से पहले नियुक्त किये गए राजदूत ने तीन अंगुलियों की सलामी दी थी जो प्रदर्शनकारियों द्वारा विरोध व्यक्त करने के लिए दी जाती है।

चो मो तुन ने बैठक में कहा था कि शांतिपूर्ण और सभ्य वैश्विक समाज की आकांक्षा करने वाले अंतरराष्ट्रीय समुदाय को “म्यांमार की सेना के विरुद्ध क़दम उठाने के लिए कोई भी आवश्यक माध्यम अपनाते हुए म्यांमार के लोगों को सुरक्षा प्रदान करनी चाहिए।”

All Time Favorite

Categories