Home » मंगल बेला
Entertainment

मंगल बेला

मंगल बेला

घर  में  छाया  खुशियों  का  मेला
आई  शुभ  दिन  की  मंगल  बेला।

सब  मिल  झूमे  नाचे गाए
सबके  चेहरे    हैं  मुस्कायें
मस्ती  में  सब  डूब  गए  हैं
भंवरे  जैसे  इत ऊत मंडराएँ

शोर    मचाए    बच्चों  का  रेला
आई  शुभ  दिन  की  मंगल बेला।

रिश्तेदारों  का  जमघट न्यारा
काम  का  भी  हुआ  बंटवारा
मेहंदी  की  खुशबू  है  फैली
सज  गया अपना राज दुलारा

सबकी  आंखों  का  वह  छैला
आई  शुभ  दिन  की  मंगल बेला।

पूरी  हो    गई  मेरी  आशा
सच  हो  गई मेरी  अभिलाषा
पुत्रवधू    अब  आएगी  घर
प्यार करूँगी  मैं  भी  माँ  सा

अब  तो  खुशियों  में  ही बहना
आई  शुभ  दिन की  मंगल  बेला।

किसने  यह  त्यौहार  बनाया
जिसमें  लगे  न  कोई  पराया
आस  पड़ोसी    मित्र  मंडली
हाथ  पकड़कर  नाच  नचाया

रिश्तो  का    अद्भुत    है  खेला
आइ  शुभ  दिन  की मंगल बेला।

प्यार के रंग में रंगे गए  सारे
एक  दूजे  की  नजर  उतारे
सुंदर  मुस्काते  खिलते चेहरे
लगते  हैं  सब  प्यारे  प्यारे

सेहरा  गाए  प्यारा  जीजा  मेरा
आई  शुभ  दिन  की मंगल  बेला।

कमल
जालंधर

Most Read

All Time Favorite

Categories

RSS Tech Update

  • An error has occurred, which probably means the feed is down. Try again later.