Hindi News

फिरोजपुर कैंट के 70 साल पुराने अस्पताल धर्मार्थ औषधालय को विधायक पिंकी ने दिए 2 लाख रुपए, दवाईयां भी मुफ्त में मुहैया करवाएंगे

फिरोजपुर कैंट के 70 साल पुराने अस्पताल धर्मार्थ औषधालय को विधायक पिंकी ने दिए 2 लाख रुपए, दवाईयां भी मुफ्त में मुहैया करवाएंगे

कहा, रोजाना डेढ़ सौ मरीजों की ओपीडी वाले अस्पताल की हर संभव मदद के लिए करेंगे प्रयास

फिरोजपुर के डवलपमेंट मॉडल को एऩआरआईज ने भी सराहा, कहा अब बैकवर्ड नहीं रहा हमारा शहर

फिरोजपुर, 9 दिसंबर,2019: 70 साल पुराने फिरोजपुर कैंट के अस्पताल की मदद के लिए विधायक परमिंदर सिंह पिंकी आगे आए हैं, जिन्होंने धर्मार्थ औषधालय अस्पताल प्रबंधन को 2 लाख रुपए की ग्रांट सौंपी है। इसके अलावा यह वायदा किया है कि अस्पताल को दवाईयां सरकारी तौर पर मुफ्त में मुहैया करवाएंगे ताकि इसका लाभ यहां इलाज के लिए आने वाले लोगों तक पहुंच सके।

अस्पताल प्रबंधन को चैक सौंपते हुए विधायक पिंकी ने कहा कि इस अस्पताल में रोजाना डेढ़ सौ के करीब मरीज इलाज के लिए आते हैं, जिन्हें मात्र 10 रुपए की पर्ची पर मेडीकल सुविधाएं मुहैया करवाई जाती हैं। उन्होंने कहा कि इस अस्पताल में छह डॉक्टर हैं और यहां ईएनटी, जनरल मेडिसिन और डेंटल ट्रीटमेंट समेत कई तरह की सेवाएं मिल रही हैं। उन्होंने कहा कि इस अस्पताल की मदद के लिए वह हर संभव प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि अस्पताल को दवाईयां भी निशुल्क मुहैया करवाएंगे ताकि इसका लाभ यहां आने वाले मरीजों तक पहुंच सके।

यहां मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए विधायक परमिंदर सिंह पिंकी ने कहा कि आजकल विभिन्न प्रकार की बीमारियां बढ़ने का मुख्य कारण पॉल्यूशन है इसलिए हम सभी को मिलकर पर्यावरण संरक्षण के लिए कदम उठाने चाहिए। उन्होंने किसानों से अपील करते हुए कहा कि वह पराली प्रबंधन को तरजीह दें क्योंकि इसे जलाने से पर्यावरण को बहुत नुकसान पहुंच रहा है। इसी तरह लोगों से भी ग्रीन दिवाली मनाने की अपील करते हुए विधायक पिंकी ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण को लेकर जल्द ही एक जागरूकता मुहिम शुरू की जाएगी। अस्पताल चला रही संस्था के प्रधान कुलभूषण गर्ग ने बताया कि इससे पहले इस अस्पताल को किसी ने नहीं पूछा जबकि विधायक पिंकी ने अस्पताल के साथ डटकर खड़े रहने की प्रतिबद्धता जताई है, जिससे हम जनसेवा को लेकर और ज्यादा उत्साहित हैं।

फिरोजपुर शहर में लगातार हो रहे विकास को देखकर विदेशों में बसे एऩआरआईज भी काफी खुश हैं। अपने परिवार समेत करीब 18 साल बाद अमेरिका से लौटे संजीव कुमार गुप्ता ने बताया कि शहर पूरी तरह से बदल चुका है। उन्होंने कहा कि यहां सड़कों की साफ-सफाई, नई सड़कें, सीवरेज सिस्टम, ट्रैफिक लाइटों इत्यादि ने फिरोजपुर शहर के पीछे से अब बैकवर्ड शब्द हटा दिया है। अब यह पिछड़ा शहर नहीं रहा।

कनाडा से 30 साल बाद फिरोजपुर आए श्री मलिक ने बताया कि वह श्री गुरु तेग बहादुर के नाम पर फिरोजपुर में एक स्कूल चलाते हैं। यहां आकर जब साफ-सफाई और बदलाव देखे तो वह खुद आश्चर्यचकित रह गए। इटली से आए गुरमीत सिंह ने बताया कि फिरोजपुर शहर बड़ी तेजी से विकसित हो रहे शहरों में शुमार है। यहां जो बदलाव हुए हैं वह काबिल-ए-तारीफ हैं।

इस मौके पर सीनियर वाईस प्रेसिडेंट पवन कुमार मित्तल, सचिव ललित मोहन गोयल, कैशियर अशोक मित्तल, डॉ उमेश शर्मा, ब्रिज मोहन, सत प्रकाश मित्तल आदि मौजूद थे।

 

All Time Favorite

Categories