Home » प्रशासन ने ज़िले में 216812 घरों को कार्यशील टूटी वाले पानी कुनैकशनों के साथ जोड़ा: डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ऐस.बी.ऐम. के पहले पड़ाव के अंतर्गत सौ प्रतिशत शोचालय को पूरा करने के लिए जल स्पलाई और सेनिटेशन विभाग की प्रशंसा की यू.ई.आई.पी., ऐस.वी.पी.,मगनरेगा और अन्य महत्वपूर्ण प्रोगरामों की भी की समीक्षा
Hindi News Punjab

प्रशासन ने ज़िले में 216812 घरों को कार्यशील टूटी वाले पानी कुनैकशनों के साथ जोड़ा: डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ऐस.बी.ऐम. के पहले पड़ाव के अंतर्गत सौ प्रतिशत शोचालय को पूरा करने के लिए जल स्पलाई और सेनिटेशन विभाग की प्रशंसा की यू.ई.आई.पी., ऐस.वी.पी.,मगनरेगा और अन्य महत्वपूर्ण प्रोगरामों की भी की समीक्षा

जालंधर, 25 अगस्त

सभी ग्रामीण घरों को पीने योग्य पानी उपलब्ध करवाने के उद्देश्य के साथ ज़िला प्रशासन जालंधर की तरफ से जालंधर ज़िले में 216812 घरों को कार्यशील टूटी वाले पानी कुनैकशनों के साथ सफलतापूर्वक जोड़ा गया है।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए डिप्टी कमिश्नर श्री घनश्याम थोरी ने बताया कि जालंधर के ग्रामीण क्षेत्र में कुल 2,30,385 परिवार हैं और हर घर पानी प्रोगराम अधीन 2,16,812 (94.11 प्रतीशत) घरों को पहले ही कवर किया जा चुका है।

डिप्टी कमिशनर, जिन के साथ अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर (यू. डी.) हिमांशू जैन भी मौजूद थे, ने कहा कि प्रशासन हर घर में कार्यशील टूटी वाले पानी का कुनैकशन उपलब्ध करवाने के लिए वचनबद्ध है जिससे लोगों को पीने वाला साफ़ पानी उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि प्रोगराम की नियमत समीक्षा और जल स्पलाई और सैनीटेशन विभाग के कार्यकारी इंजीनियरों और जूनियर इंजीनियरों के सांझे प्रयत्नो ने इस मिशन को ज़िले में सफल बनाया है।

               इस दौरान उन्होंने ज़िलो में 19809 शोचालय का निर्माण कर ऐस.बी.ऐम. के पहले पड़ाव के अंतर्गत सौ प्रतिशत शोचालय को पूरा करने के लिए जल स्पलाई और सेनिटेशन विभाग के यतनों की भी प्रशंसा की। उन्होंने बताया कि ब्लाक रुड़का कलाँ, जालंधर पूर्वी,फिलौर,नूरमहल में कुल 6931 पखाने, आदमपुर,भोगपुर और जालंधर पश्चिमी ब्लाकों में 6324 और नकोदर,लोहियाँ और शाहकोट ब्लाकों में 6554 पखाने उपलब्ध करवाए गए हैं।

इसी तरह डिप्टी कमिश्नर ने शहरी वातावरण सुधार प्रोगराम के तीनों पड़ावों की प्रगति की समीक्षा की और कहा कि इस प्रोगराम के तीसरे पड़ाव के अंतर्गत ज़िले में 296 विकास कार्य जल्दी ही शुरू किये जाएंगे। उन्होंने घर -घर रोज़गार योजना, स्मार्ट विलेज कम्पेन, गाँवों में खेल के मैदान और स्कूलों के निर्माण जैसे अलग -अलग प्रमुख प्रोगरामों की समीक्षा भी की।

डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि ज़िला प्रशासन राज्य सरकार की तरफ से चलाईं जा रही अलग -अलग योजनाओं का लाभ यकीनी बना कर लोगों की सेवा करने के लिए वचनबद्ध है जिससे उनको किसी प्रकार की परेशानी सामना न करना पड़े। बैठक में सभी ऐस.डी.ऐम. भी मौजूद थे

 By: Madhur Vyas

About the author

S.K. Vyas

Add Comment

Click here to post a comment

Most Read

All Time Favorite

Categories