Home » पर्यटन मंत्रालय ने आतिथ्य और पर्यटन उद्योगों ऑनलाइन ट्रैवल कंपनियों के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए
News

पर्यटन मंत्रालय ने आतिथ्य और पर्यटन उद्योगों ऑनलाइन ट्रैवल कंपनियों के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए

पर्यटन मंत्रालय ने आतिथ्य और पर्यटन उद्योगों ऑनलाइन ट्रैवल कंपनियों के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए

पर्यटन मंत्रालय ने आतिथ्य और पर्यटन उद्योगों को मज़बूत बनाने के लिए ऑनलाइन ट्रैवल कंपनियों के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए

नई दिल्ली १६ अप्रैल,२०२१:  आतिथ्य और पर्यटन उद्योग को ,खासतौर से महामारी के समय में, मज़बूत बनाने के अपने प्रयास के तहत पर्यटन मंत्रालय ने ऑनलाइन ट्रैवल कंपनियों क्लीयरट्रिप और ईज़ माई ट्रिप के साथ 15 अप्रैल को एक समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए।

इस समझौता पत्र का प्राथमिक उद्देश्य उन आवास इकाइयों को व्यापक दृश्यता उपलब्ध कराना है जो ओटीए प्लैटफार्म पर मौजूद साथी एप (सिस्टम फॉर एसेसमेंट, अवेयरनेस एंड ट्रेनिंग फॉर दि हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री) पर खुद को स्वप्रमाणित कर चुकी हैं। समझौता पत्र में दोनों पक्षों को इन इकाइयों को निधि एप पर और उसके साथ ही साथी एप पर पंजीकृत कराने के लिए प्रोत्साहित करने तथा स्थानीय पर्यटन उद्योग को कोविड-19 महामारी के प्रसार को रोकने के लिए समुचित सुरक्षा उपाय अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने के संबंध में भी निर्देश हैं।

इसका उद्देश्य यह भी है कि आवास इकाइयों के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाई जाए ताकि कार्रवाई योग्य अंतरदृष्टि हासिल की जा सके और संरचनागत प्रमाणों के आधार पर तथा लक्षित नीतिगत उपाय कर सुरक्षित, सम्मानजनक और टिकाऊ पर्यटन सुनिश्चित किया जा सके।

पर्यटन मंत्रालय ने आतिथ्य और पर्यटन उद्योगों ऑनलाइन ट्रैवल कंपनियों के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए

पर्यटन मंत्रालय में संयुक्त सचिव श्री राकेश कुमार वर्मा, पर्यटन मंत्रालय में निदेशक (एच एवं आर), भारतीय गुणवत्ता नियंत्रण (क्यूसीआई) के डॉ. ए राज तथा श्री मोहित सिंह, ईज़ माई ट्रिप के उपाध्यक्ष श्री विपिन शाह और क्लियरट्रिप प्राइवेट लिमिटेड के बिजनेस हैड श्री श्रीराम की उपस्थिति में इस समझौता पत्र पर हस्ताक्षर हुए।

पर्यटन मंत्रालय और ऑनलाइन ट्रैवल कंपनियां पर्यटन क्षेत्र में रणनीतिक और तकनीकी सहयोग को प्रोत्साहित करने और विकसित करने के लिए सभी ज़रूरी कदम उठाएंगीं ताकि चिन्हित क्षेत्रों में समुचित लाभ प्राप्त किए जा सकें।

Lipakshi Seedhar: Staff Corespondent