Home » दुर्गा वंदना
Entertainment

दुर्गा वंदना

दुर्गा वंदना

 

 

 

 

 

 

 

सुंदर रूप सलोना तेरा मन को विपुल भाया है

तेरे  पूजन अर्चन  हेतु आरती थाल सजाया है

 

ओ सारे जग की माता मेरा भी कल्याण करो,

सन्मुख तेरे खड़ी भवानी थोड़ा मेरा ध्यान करो

विधि  विधान कुछ न  जानू कैसे आरती गाऊं

तेरे दर्शन की मैं प्यासी बस मेरी पहचान करो

सारे जग ने जब ठुकराया तूने  गले लगाया है

तेरे  पूजन अर्चन  हेतु आरती थाल सजाया है

 

तेरे स्वागत में ओ मैया मैंने दरबार सजाया है,

धूप दीप  रोली अक्षत जल कलश लगाया है

तेरी शीतल  सुंदर छवि  पर मैं बलिहारी जाऊं

नजाने तुझको मैया नजर का टीका लगाया है

तेरा दर्शन कर अपना जीवन सुखमय पाया है

तेरे  पूजन अर्चन  हेतु आरती थाल सजाया है

 

विद्या बुद्धि का देना तुम मुझको वरदान सदा,

मेरे  जीवन  की राहें करना तुम आसान सदा,

तेरे बिन सूना है जीवन तू पुष्पों की डाली माँ,

तेरा अमृतमयी दर्शन मन  को दे मुस्कान सदा

तेरी शरण में  आकर  सारा संसार भुलाया है,

तेरे पूजन अर्चन हेतु आरती थाल सजाया है।

मीनाक्षी
जालंधर

All Time Favorite

Categories