Home » डीसी ने ई- गिरदावरी की जांच की गहली क्षेत्र के खेतों में पहुंचकर सजरा के साथ किया रिकॉर्ड का मिलान गिरदावरी महत्वपूर्ण कार्य, इसमें नहीं होनी चाहिए कोई चूक : उपायुक्त
Haryana Hindi News

डीसी ने ई- गिरदावरी की जांच की गहली क्षेत्र के खेतों में पहुंचकर सजरा के साथ किया रिकॉर्ड का मिलान गिरदावरी महत्वपूर्ण कार्य, इसमें नहीं होनी चाहिए कोई चूक : उपायुक्त

नारनौल 3 सितंबर। उपायुक्त अजय कुमार ने आज जिला के गांव गहली व इसके आसपास के खेतों में पहुंचकर राजस्व विभाग द्वारा की गई फसल गिरदावरी की जांच पड़ताल की। उन्होंने मौके पर नक्शा तथा सजरा के साथ फसल रिकॉर्ड का मिलान किया।

उपायुक्त ने राजस्व विभाग के अधिकारियों से कहा कि गिरदावरी बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य है। ऐसे में यह कार्य सौ फीसदी ठीक होना चाहिए। सरकार गिरदावरी के माध्यम से लिए गए आंकड़ों के आधार पर ही किसान के संबंध में नीति बनती है।

डीसी ने बताया कि राजस्व विभाग प्रत्येक फसल चक्र की गिरदावरी रिपोर्ट तैयार कर सरकार को रिपोर्ट भेजता है। सरकार के निर्देश पर गिरदावरी रिपोर्ट में सही आंकड़े आएं इसके लिए ई-गिरदावरी प्रणाली अपनाई गई है। ई गिरदावरी मौके पर जाकर ऑनलाइन होती है। पटवारी सजरे से किला नंबर देखकर टैब में फसली ब्यौरा एकत्रित करते हैं।

जब विभिन्न स्तर पर गिरदावरी का काम पूरा होता है तो इसके बाद इसकी जांच पड़ताल, गिरदावर, तहसीलदार व अन्य उच्च अधिकारियों द्वारा की जा रही है ताकि इस कार्य की सही रिपोर्ट सरकार को भेजी जा सके।

इस मौके पर उनके साथ तहसीलदार विकास तथा राजस्व विभाग से सदर कानूनगो राजपाल, नायब सदर कानूनगो सतीश, हलका गिरदावर महावीर सिंह, पटवारी राकेश व राज्यपाल मौजूद थे।

 

फोटो -गहली में फसल गिरदावरी का मिलान करते उपायुक्त अजय कुमार।

About the author

S.K. Vyas

Add Comment

Click here to post a comment

Most Read

All Time Favorite

Categories