Home » *जीवन*
Entertainment News

*जीवन*

*जीवन*

कहीं  भी  पहुंचने के  लिए  चलना  जरूरी है,

सूरज को भी शाम होते ही  ढलना  जरूरी है,
जो हुनर सीख लेता है सदा ही खुश रहने का
उसको हर  एक से मोहब्बत करना जरूरी है।

मजबूरियां  इंसान  को  पत्थर  बना  देती  हैं,
रंज  दुख  तकलीफ  तो  घर  जला  देती हैं,

वक्त  के  सांचे में जो  ढलना सीख  जाते  हैं,
उनके सुंदर से सपनों का संसार खिला देती हैं

संसार  में कोई भी  छोटा या  बड़ा नहीं होता,

 जिंदगी का  हर पल भी सदा सजा नहीं होता,
काम कर देता असंभव भी कभी छोटा व्यक्ति

दुनिया में मोहब्बत से कुछ भी बड़ा नहीं होता

मीनाक्षी
जालंधर

All Time Favorite

Categories