Haryana Hindi

जल जीवन मिशन

जल जीवन मिशन जिले में अब तक 8027 ग्रामीण घरों में पेयजल कनेक्शन वैध किए: जगदीश शर्मा
-दो हजार रुपए का रोड कट चार्ज विभाग वहन करेगा
-इसी माह 10 हजार घरों में कनेक्शन का लक्ष्य
-इस मिशन में महेंद्रगढ़ जिला प्रदेश में पांचवें स्थान पर
बी.एल. वर्मा द्वारा
नारनौल, 23 जनवरी  2020 : जल जीवन मिशन के तहत जिले में अब तक 8027 घरों में पेयजल के कनेक्शन वैध किए जा चुके हैं। जनवरी माह के अंत तक लगभग 10 हजार कनेक्शन वैध करने का लक्ष्य है। इस तरह महेंद्रगढ़ जिला इस मिशन में प्रदेश में पांचवें स्थान पर चल रहा है। यह जानकारी उपायुक्त जगदीश शर्मा ने गुरूवार को मीडिया सेंटर में आयोजित प्रेस कांफेंस में दी।

डीसी ने बताया कि राज्य में जून 2022 तक ग्रामीण क्षेत्रों में हर घर में कनेक्शन व टूटी लगाने का लक्ष्य है। जिले के गांवों में कुल 1.46 लाख घर हैं। इस अभिायान के तहत अप्रैल 2019 से अब तक 92246 घरों का सर्वे करके वैध कनेक्शन के लिए ऑनलाइन किया जा चुका है। अभी जले में ग्रामीण क्षेत्रों के 53782 घरों का सर्वे 31 मार्च 2020 तक ऑनलाइन करने का लक्ष्य है। इस मिशन के तहत 56 ग्राम पंचायतों को 30 सितंबर 2020 तक कवर किया जाएगा। आगामी 30 जून 2021 तक 102 ग्राम पंचायतों को कवर किया जाएगा तथा आगामी जून 2022 तक 188 ग्राम पंचायतों को कवर किया जाएगा।

उपायुक्त ने बताया कि पहले चरण पूरे जिले का सर्वे करके पेयजल कनेक्शन को वैध किया जाएगा तथा घरों में टूटी लगाई जाएगी। द्वितीय चरण में पेयजल कनेक्शन प्रदान करने के साथ-साथ पाइप लाइन बिछाने का कार्य, ट्ïयूबवेल व बूस्टर आदि का काम किया जाएगा। वहीं तीसरे व अंतिम चरण में पेयजल कनेक्शन प्रदान के साथ-साथ रॉ वाटर प्रोजेक्ट, मल्टी विलेज स्कीम, डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम, बूस्टर, वाटर ट्रीटमेंट प्लांट आदि लगाने का काम पूरा किया जाएगा। इस प्रकार 2022 तक सभी गांवों में वैध कनेक्शन व टूटी लगाने का काम किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि कनेक्शन को वैध करवाने के लिए हर घर से 500 रुपए की राशि ली जाएगी। सामान्य कनेक्शन जिन्होंने 500 रुपए फीस जमा करवाई है उन्हें 40 रुपए प्रतिमाह बिल आएगी। अनुसूचित जाति के लिए 20 रुपए प्रति माह बिल आएगा। अगर कोई कनेक्शन फीस नहीं देना चाहता तो उसके बिल में हर माह अतिरिक्त 10 रुपए राशि जुडक़र आएगी। 2 हजार रुपए रोड कट चार्ज इस दौरान नहीं लिए जाएंगे।
श्री शर्मा ने बताया कि जिले में ग्रामीण क्षेत्रों में फिलहाल प्रतिदिन 40 से 60 लीटर प्रति व्यक्ति पानी उपलब्ध करवाया जा रहा है। जल जीवन मिशन के तहत हर घर में 55 लीटर प्रतिदिन प्रति व्यक्ति देने का लक्ष्य है। इसके लिए लहरोदा जलघर की क्षमता बढ़ाई जा रही है। वहीं भालखी में बनने वाले जलघर में भी इसी क्षमता के हिसाब से काम चल रहा है।

उन्होंने बताया कि जल जीवन मिशन के तहत गांव में खर्च होने वाली कुल राशि का 90 फीसदी सरकार वहन करेगी तथा केवल 10 फीसदी संबंधित ग्राम पंचायत वहन करेगी। वहीं इस काम की देखभाल के लिए हर गांव में ग्राम जल एवं सीवरेज समिति भी बनाई जा चुकी हैं।

जल जीवन मिशन के कार्य में जल एवं सीवरेज समिति का अहम योगदान रहेगा जो गांव में पेयजल व्यवस्था के संचालन एवं रखरखाव के साथ-साथ बैंक में खाता खुलवाकर धन की प्राप्ति का लेखा-जोखे की सही पुस्तकों को बनाये रखना व ऑडिट निरीक्षण के लिए रिकार्ड रखना होगा।

ग्राम जल एवं सीवरेज समिति गांव की पेयजल व्यवस्था की प्लांनिंग व लागू करने को कार्य को अंतिम रूप प्रदान करेगी। यह कमेटी गांवों में सप्लाई हो रहे पानी की शुद्धता पर ध्यान रखेगी। इस मौके पर एडीसी मोहम्मद इमरान रजा, एएसपी मकसुद अहमद, जनस्वास्थ्य विभाग के अधीक्षक अभियंता राकेश कुमार, एक्सईएन रमेश गौड़, जिला सलाहकार मंगतूराम, बीआरसी इंद्रजीत के अलावा अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

All Time Favorite

Categories