Hindi

छोटे व सुक्ष्म उद्यमियों के विकास के लिए दी जाएगी हर संभव मदद  दुष्यंत चौटाला

छोटे व सुक्ष्म उद्यमियों के विकास के लिए दी जाएगी हर संभव मदद  दुष्यंत चौटाला

उप मुख्यमंत्री ने कागदाना में किया कॉमन फैसीलिटी सैंटर का उद्घाटन
सिरसा, 5 जनवरी,२०२० (  सतीश बंसल द्वारा  ) :         प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि छोटे व सुक्ष्म उद्यमियों के विकास और ग्रामीण क्षेत्रों का पिछड़ापन दूर करते हुए विकास के पथ पर ले जाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा कारगर कदम उठाए जा रहे हैं। उद्योग एवं वाणिज्य विभाग हरियाणा द्वारा विभिन्न योजनाओं के माध्यम से छोटे व सुक्ष्म उद्यमियों व युवाओं को स्वावलंबी बनाने के लिए 90 प्रतिशत तक वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाती है।

                  उप मुख्यमंत्री रविवार को जिला के गांव कागदाना में उद्योग एवं वाणिज्य विभाग हरियाणा की स्टेट मिनी कलस्टर डिवेलपमेंट स्कीम के तहत ग्लोबल एग्रीकल्चर मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन द्वारा स्थापित कॉमन फैसीलिटी सैंटर का उद्घाटन के उपरांत ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे। उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि नई तकनीक के माध्यम से न केवल छोटे उद्योगों को लाभ मिलेगा बल्कि इससे ग्रामीण इलाकों का पिछड़ापन भी दूर होगा तथा प्रगति के पथ आगे बढेंगे। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के प्रोजेक्ट से ग्रामीण इलाकों के युवाओं को सीधा लाभ मिलेगा और यह शुरुआत भर है। युवा फुड पैकेजिंग जैसे प्रोजेक्ट बना कर उद्योग विभाग में जमा करवाएं, विभाग हर संभव सहायता के लिए तत्पर है। उन्होंने कहा कि अलग-अलग विभागों के माध्यम से कई ऐसे प्रोजेक्ट स्थापित किए जा सकते हैं। यदि इस क्षेत्र में उद्योग स्थापित करना चाहते हैं तो इस प्रकार के प्रोजेक्ट लाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि जब तक आगे बढने की सोच नहीं होगी, तब तक क्षेत्र में पिछड़ापन दूर नहीं होगा। यदि इस प्रकार के 10 प्रोजेक्ट भी स्थापित होते हैं तो क्षेत्र का विकास आसानी से होगा। उन्होंने कहा कि कैथल में इसी योजना के तहत राईस मिलिंग कलस्टर प्रोजेक्ट स्थापित किया गया है जिसमें मशीनों के माध्यम से धान के एक-एक दाने को साइज व रंग के आधार पर अलग अलग किया जा सकता है, इससे सीधे तौर पर किसानों को लाभ मिलेगा।
उन्होंने कहा कि यह सुविधा हरियाणा सरकार द्वारा अपनी प्रमुख राज्य मिनी क्लस्टर विकास योजना के तहत क्रियांवित की गई है। इस योजना के तहत राज्य भर में इस प्रकार के 25 सुविधाएं स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कॉमन फैसीलिटी सैंटर के माध्यम से ग्रिल, विंडो, डोर फ्रेम और कृषि उपकरण जैसे ट्रॉली, प्लव ब्लेड इत्यादि का आधुनिक के निर्माण किया जाएगा। इससे सुविधा से न केवल समय की बचत होगी बल्कि उत्पादन लागत में भी कमी आएगी। इसके अलावा उत्पादन में भी वृद्धि के साथ-साथ गुणवत्ता भी बेहतर होगी।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले युवा लघु उद्योग के क्षेत्र में आगे आकर स्वावलंबी बने और अपने ही गांव में इस तरह के उद्योग स्थापित करके अन्यों को भी रोजगार देने का काम करें। उन्होंने कहा कि लघु व मध्यम उद्योग अपनाने वाले युवाओं की हर संभव मदद की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस तरह के स्वरोजगार शुरु करने वाले युवाओं को हरियाणा सरकार की तरफ से 90 प्रतिशत तक वित्तीय सहायता दी जाती है। उन्होंने आश्वासन दिया कि सरकार इस सामान्य सुविधा केंद्र के विकास के लिए हर संभव सहायता प्रदान करेगी। उन्होंने सिरसा के युवाओं और नवोदित उद्यमियों से भी आग्रह किया कि वे आगे आएं और सिरसा में इस तरह की सुविधाओं को स्थापित करने के लिए सरकारी योजना का लाभ उठाएं।
उप मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा युवाओं के बेहतर भविष्य बनाने की दिशा में इस योजना को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा भी बड़े स्तर पर अनुदान दिया जाता है। उद्योग स्थापित करने वाले समूहों को प्रदेश सरकार द्वारा 2 करोड़ तक का अनुदान दिया जाता है और केंद्र सरकार द्वारा भी हरियाणा में 20-20 करोड़ रुपये की लागत के 8 प्रोजेक्ट स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में विकास कार्यों में कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी, उनके विभाग के अलावा दूसरे विभागों के माध्यम से भी पूरे प्रदेश में बिना भेदभाव के विकास कार्य करवाए जाएंगे और नागरिकों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी। समारोह के उपरांत उप मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की समस्याएं भी सुनी और उनके समाधान का आश्वासन दिया।

 इस अवसर पर पूर्व विधायक रण सिंह बेनीवाल, एसडीएम सिरसा जयवीर यादव, डा. विरेंद्र सिवाच, ओपी सिहाग, आरसी धारा, जिलाध्यक्ष ग्रामीण कृष्ण कंबोज, हलका अध्यक्ष ऐलनाबाद नंदलाल बेनीवाल, राजेंद्र गनेरीवाला, सुरेंद्र बेनीवाल, हरि सिंह भारी, सतबीर कड़वासरा, अंजनी लड्ढा, ग्लोबल एग्रीकल्चर मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन के सदस्य मांगेराम बेनीवाल, संजीव सिंवर, राजेंद्र गैरर, उप निदेशक जिला उद्योग केंद्र गुरप्रताप सिंह, उपेंद्र सिंह, विनोद, दलीप सिंह नंबरदार, धर्मपाल सिंवर, अध्यक्ष गौसंघ खुबराम सुथार, हरि सिंह सरपंच, सुनील, संदीप सहित भारी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

All Time Favorite

Categories