Home » ग्रामीणों को मौलिक कर्तव्यों के बारे में जागरूक किया सभी लोगों के साथ एक जैसा बर्ताव होना चाहिए: गिरिबाला यादव
Haryana Hindi News

ग्रामीणों को मौलिक कर्तव्यों के बारे में जागरूक किया सभी लोगों के साथ एक जैसा बर्ताव होना चाहिए: गिरिबाला यादव

नारनौल। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव एवं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी अंजलि जैन के निर्देशानुसार मोबाइल वैन के माध्यम से गांव करोली में मौलिक कर्तव्य एवं मानसिक रूप से बीमार व  विकलांग नागरिकों के लिए एक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।
शिविर में अधिवक्ता गिरिबाला यादव  ने ग्रामीणों को मौलिक कर्तव्यों के बारे में जागरूक किया। साथ ही उन्होंने राष्ट्रीय विधिक सेवाएं प्राधिकरण द्वारा चलाई जा रही मानसिक रूप से बीमार व विकलांग नागरिकों के लिए विधिक सेवाएं योजना 2015 के बारे में विस्तृत जानकारी दी।
 उन्होंने बताया कि जीवन में बच्चे के आने के साथ ही उसकी हर तरह से सुरक्षा आपकी प्राथमिकता बन जाती है। इस योजना का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि मानसिक रूप से अस्वस्थ अथवा मानसिक अशक्त व्यक्ति कलंकित लोग नहीं है । उनके साथ ऐसा ही व्यवहार किया जाना चाहिए जैसा किसी अन्य व्यक्ति से किया जाता है।  ऐसे बच्चों को सहानुभूति की आवयकता होती है । समय पर उनका इलाज कराने की दिशा में सकरात्मक प्रयास करना चाहिए और उन्हें असहाय नहीं छोड़ना चाहिए।
उन्होंने बताया कि कानून की नजर में मानसिक रूप से बीमार व्यक्तियों को सभी अधिकार प्राप्त है। अगर कोई मानसिक रोगी आस पास दिखे तो उनकी सूचना नजदीकी थाने को दें। थाना उसे नजदीकी अस्पताल में भर्ती करा परिजनों को सौपेगा। कार्यक्रम के अंत में उन्होंने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अंतर्गत मध्यस्ता केंद्र ए० डी० आर० सेंटर जिला न्यायालय नारनौल में चलाया जा रहा है जिसके बारे में भी लोगो को अवगत कराया गया तथा मध्यस्था केंद्र में दोनों पक्षों की सहमति से विवाद का निपटान किये जाने के लाभों के बारे में भी लोगो को अवगत करवाया।
इस अवसर पर राधेश्याम पूर्व पंच, हवा सिंह व अनिल कुमार व अन्य ग्रामीण उपस्थित थे।
फोटो
 ग्रामीणों को जागरूक करती एडवोकेट गिरीबाला।
By: Sachin Vyas

Most Read

All Time Favorite

Categories