Home » खुद के लिए भी जीना सीखे हमारी माँ, पत्नी, बहन, बेटियां…
Exclusive News

खुद के लिए भी जीना सीखे हमारी माँ, पत्नी, बहन, बेटियां…

खुद के लिए भी जीना सीखे हमारी माँ, पत्नी, बहन, बेटियां…
अपने आप से सवाल पूछे महिलाएं – क्या मुझे जो अच्छा लगता है मै कर पा रही हूँ ?? – श्रीकांत जाधव
डॉ. कविता दुआ जाधव ने भी नारी शक्ति को प्रोत्साहित किया
करनाल। महिला चाहे शहर की हो या गांव की, पढ़ी लिखी हो या अनपढ़ सभी को पुरुष प्रधान समाज में समस्याओं से गुजरना पड़ता है. महिलाओं को कदम-कदम पर आगे बढऩे के लिए घर में और घर से बाहर भी पुरुषों के विरोध का सामना करना पड़ता है. एक बहुत बड़ी संख्या में महिलाओं का घर से बाहर निकल कर समारोह में भाग लेना ही बहुत बड़ी उपलब्धि है. आज जो महिलाएं आई हैं वो निडर होकर जाएं. उनकी कोई भी समस्या है तो वे बताएं. उन्होंने महिलाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि क्या आज के परिवेश में वे अपने लिए जी रही हैं. क्या जो उन्हें अच्छा लगता है वो कर पा रही है. क्या उन्हें अपनी मर्जी से रुपया खर्च करने का अधिकार है. क्या वे अपनी पसंद का खाना खा रही हैं. उन्होंने कहा कि उन्हे अपने स्वास्थ्य, खान पान, रहन सहन और अपनी रूचि के अनुसार कार्य करने चाहिए. चाहे वो गाना हो, चाहे वो पेंटिंग करना हो. उन्हें अपनी इच्छाओं को मारने के स्थान पर उन्हें उभारना चाहिए ताकि एक स्वच्छ और समृद्ध समाज का विकास हो सके और नारी को भी जीने का पूरा अधिकार है.
नारी अबला नहीं वो सबला है. ये शब्द हरियाणा राज्य नारकोटिक्स कण्ट्रोल ब्यूरो के प्रमुख अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्रीकांत जाधव ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर नारी शक्ति को सम्बोधित करते हुए कहे. वे आज अंबेडकर भवन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में पधारे हुए थे. उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को नशे के बारे में विशेष रूप से जागरूक करते हुए कहा कि आज शहर से लेकर गाँव तक नशा बड़ी गति से फैल रहा है. युवा और बच्चे नशे की दलदल में फंस रहे है जो बहुत ही चिंता का विषय है. नशा एक ऐसी बुराई है जो युवाओं की नसों में जहर का काम कर रही है. आज समय की मांग है कि युवाओं को जागरूक किया जाए और दूसरी और नशे की सप्लाई को रोकने की जरुरत है. आप के आस पड़ौस मेें कोई भी नशा करता है तो उसकी जानकारी हमें दें. आपकी पहचान गुप्त रखी जाएगी. नशे के विरुद्ध हरियाणा प्रान्त में जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं ताकि भावी पीढ़ी को ऐसे घातक नशों से दूर रहने के लिए जागरूक किया जा सके.
इसके अतिरिक्त विद्यार्थियों और युवाओं को लेकर ऐसी योजनाएं बनाई जा रही हैं जिससे नशे पर सीधा प्रहार किया जा सके. कार्यक्रम में पधारने पर एमएसएमई विभाग के संयुक्त निदेशक प्रदीप झा ने श्रीकांत जाधव को पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया. कार्यक्रम में विशेष रूप से पधारी डॉ. कविता दुआ जाधव का संस्था के पदाधिकारियों ने पुष्प गुच्छ से अभिनन्दन किया. डॉ. कविता दुआ जाधव ने मंच से नारी शक्ति को सम्बोधित करते हुए कहा नारी अपने आप में एक शक्ति है. आज की नारी हर क्षेत्र में कही भी पुरुषों से कम नहीं है अपितु जो भी जिम्मेदारी उन्हें दी जाती है वो बहुत ही प्रभावशाली और कुशल ढंग से उसका निर्वहन कर रही है. पुरुष प्रधान समाज में आज नारी हर क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कर रही है. नारी के लिए वर्ष का एक दिन नहीं अपितु सभी दिन नारी के हैं क्योंकि नारी के बिना सृष्टि ही संभव नहीं. इस अवसर पर अंबेडकर समाज कल्याण सभा के प्रधान अमर सिंह पातलान, एमएसएमई विभाग के संयुक्त निदेशक प्रदीप झा, रचना त्रिपाठी व सुनील कुमार आदि उपस्थित रहे.

By Lipakshi Seedhar (Feature Writer)

You can now follow us on Instagram and get to know some interesting facts about various things happening around the world. So click on the link below and check our page:

TribuneNewsLine

About the author

Lipakshi Seedhar

Lipakshi Seedhar

Lipakshi Seedhar is a 21-year-old social media enthusiast who has completed Bachelor's in Journalism and Mass Communication. I have a passion for traveling. She likes photography, videography, graphic designing, reading, content writing, and also runs a lifestyle blog named Lipsify.

Add Comment

Click here to post a comment

All Time Favorite

Categories