Home » आजाद समाज पार्टी पंजाब और भीम आर्मी ने किसानी मांगों के समर्थन में राष्ट्रपति के नाम पर मांग पत्र सौंपा
Punjab

आजाद समाज पार्टी पंजाब और भीम आर्मी ने किसानी मांगों के समर्थन में राष्ट्रपति के नाम पर मांग पत्र सौंपा

आजाद समाज पार्टी पंजाब और भीम आर्मी ने किसानी मांगों के समर्थन में राष्ट्रपति के नाम पर मांग पत्र सौंपा

लुधियाना 24 सितम्बर,2020:    आजाद समाज पार्टी पंजाब के प्रधान राजीव कुमार लवली व मालवा जोन के इंचार्ज एडवोकेट इंद्रजीत सिंह,भीम आर्मी लुधियाना के प्रधान रवि राव और अंबेदकर नवयुवक दल के प्रधान बंसी लाल प्रेमी ने यहां जिला प्रशासन के माध्यम से देश के राष्ट्रपति को आज पंजाब भर के जिला हैड कुर्वाटरो पर रोष प्रदर्शन करके राष्ट्रपति के नाम पर मांग पत्र भेजे गए है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार रेलवे,बीएसएनएल समेत देश के पब्लिक सैक्टर का निजीरकरन करके देश को तबाही की ओर धकेल रही है। जिसके आने वाले समय में घातक नतीजे देखने को मिल सकते है।इस मांग पात्र में किसानी मांगों का पुरजोर समर्थन किया है,वहीं किसानी विरोधी बिलो पर राष्ट्रपति को हस्ताक्षर ना करने की अपील की है।
प्रधान लवली ने कहा कि देश व विशेष करके पंजाब की किसानी पहले ही आर्थिक मंदहाली के दौर में से गुजर रही है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार किसान विरोधी बिलो को जबरदस्ती लागू करने पर क्यों तुली हुई है जब कि देश भर के किसान इन बिलो को लेकर सडक़ों पर उतरे हुए है और इसी संबध में 25 सितम्बर को पंजाब बंद का ऐलान किया है। उक्त नेतायों ने कहा कि यदि यह बिल किसान पक्षीय होते तों फिर देश भर के किसानो को अंदोलन के रास्ते पर चलने की जरूरत क्यों पड़ती। इस लिए मोदी सरकार को चाहिए कि वह इन बिलो पर फिर से विचार करे ताकि देश का माहौल शांतमयी बना रह सकें।
आजाद समाज पार्टी पंजाब और भीम आर्मी ने किसानी मांगों के समर्थन में राष्ट्रपति के नाम पर मांग पत्र सौंपा लवली ने कहा कि मोदी को तों केवल देश के दो बड़े उद्योगिक घराने अंबानी व अडानी ही दिखाई देते है। जब कि देश के अनाज भंडार में दिन रात मेहनत करके योगदान पाने वाले अन्नदाता किसान की मुश्किलें नजर नहीं आती। उन्होंने कहा कि यदि किसान विरोधी बिल देश में जबरदस्ती लागू कर दिए जाते है तों फिर देश में खानाजंगी जैसे हालात पैदा हो जाएगे,जिससे देश विरोधी शक्तियों के सरगर्म होने की संभावना बढ़ जाएगी।  जो कि देश व देश वासियों हेतु घातक साबित हो सकती है। उन्होंने कहा कि किसान विरोधी बिल केवल किसानो हेतु ही नुकसानदायक नहीं बलकि देश के हर वर्ग के लिए घाटे वाला सौदा साबित होगे। ठेका लेने वाली कंपनियों को स्टॉक करने के पूरे अधिकार दिए गए है,जिससे मंहगाई शिखरों पर पहुंच जाएगी। देश के लोग तों पहले ही मंहगाई की चक्की में पिस रहे है। उन्होंने ऐलान किया कि 25 सितम्बर के किसानो के अंदोलन में आजाद समाज पार्टी राज्य भर में किसानो का डट कर साथ देगी और हर कुर्बानी हेतु तैयार रहेगी। इस मौके इस अवसर पर डॉ इंदरजीत ,बलविंदर गोल्डी,एडवोकेट राम जी सुमन,डा रविंदर सरोए,रोहित,बब्लू,राजेश भारती, कर्मराजवीर,डॉ रविंदर सरोए,शाहरूख,राहुल,रणजीत,सरपित राय,मोहम्मद मुरतजा व परमिंदर राणा आदि उपस्थित थे।

All Time Favorite

Categories