Home » अधिकार और कर्तव्य एक ही रथ के दो पहिए: लोकेश गुप्ता
Hindi News Legal Matter

अधिकार और कर्तव्य एक ही रथ के दो पहिए: लोकेश गुप्ता

अधिकार और कर्तव्य एक ही रथ के दो पहिए: लोकेश गुप्ता
त्रिभुवन वर्मा द्वारा :
नारनौल 28 मई 2019 :जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं सचिव लोकेश गुप्ता की अध्यक्षता में मंगलवार को  राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल हुडीना में मौलिक अधिकार एवं मौलिक कर्तव्य विषय पर एक सेमिनार का आयोजन किया गया।
श्री गुप्ता ने बच्चों को मौलिक अधिकार एवं मौलिक कर्तव्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि किस तरह एक लंबे संघर्ष के बाद इस देश की जनता ने आजादी हासिल की थी और संविधान के तहत सभी को मौलिक अधिकार दिए गए थे। ये अधिकार मानव मात्र के लिए अपने सर्वोत्कृष्ट प्रदर्शन तक पहुंचने के लिए अत्यंत आवश्यक हैं।
उन्होंने बताया कि जिन अधिकारों के लिए इतनी लंबी लड़ाई लड़ी गई थी आज अज्ञानता की वजह से कई लोग उन्हीं मौलिक अधिकारों से वंचित रह जाते हैं। इसलिए यह हम सबका दायित्व है कि देश भर में मौलिक अधिकारों के प्रति जागरूकता फैलाएं। अधिकारों के साथ-साथ उन्होंने बच्चों को मौलिक कर्तव्यों के प्रति भी संवेदनशील बनने की प्रेरणा दी। यदि हम अपने मौलिक कर्तव्यों का निर्वहन नहीं करेंगे तो कहीं ना कहीं दूसरों के मौलिक अधिकारों का हनन होगा। इसलिए सभी के मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए यह नितांत आवश्यक है कि सभी अपने मौलिक कर्तव्यों का शुद्ध अंत:करण से निष्ठा पूर्वक निर्वहन करें। इन्हीं मौलिक कर्तव्यों में से एक कर्तव्य पर्यावरण सुरक्षा भी है। मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ने बच्चों को पर्यावरण संरक्षण की शपथ दिलाई और उनसे वर्षा ऋतु में कम से कम एक वृक्ष लगाने और उसकी देखभाल करने का आश्वासन भी लिया।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जागरूक बच्चे विश्व गुरु भारत मिशन को लेकर आगे बढ़ रहा है। इस मिशन के तहत प्रतिदिन एक विद्यालय के बच्चों से कानूनी जागरूकता के विषय पर स्वयं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी लोकेश गुप्ता रूबरू होते हैं। आज के बच्चे कल का भविष्य हैं इसी अवधारणा के तहत बच्चों को स्कूलों के स्तर से कानूनी तौर पर जागरूक एवं सजग बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

All Time Favorite

Categories